YOU

You are worth more than you,

Will ever know.

And I love you,

In ways your crumbling heart,

Could never fathom.

Come to me in peices,

And exist inside my heart,

AS WHOLE.

Advertisements

वादा

आज की इस तारीख की ख़ासियत का तुझे इल्म भी है?

 आज पूरे हुए उसी पुराने वादे का मन में ज़रा ज़िक्र भी है?

 जिसको सर आँखों पे रख हम हर रोज़ तनहाई को आब की तरह पी गये,

ये बता जान-ए-जिगर मेरे उस प्यार के लिये तेरे दिल में इज्जत की ज़रा सी किश्त भी है?